About Us

राजनांदगांव जिला मुख्यालय से 75 किलो मीटर दूरी पर बसा वनांचल गाँव है इस ग्राम में महाविद्यालय की स्थापना 08/08/2007 से प्रारंभ हुआ है। इस महाविद्यालय में दूर-दराज से आदिवासी छात्र/छात्राएँ अध्ययनरत् करने आते है। इस महाविद्यालय में बी.ए./बी.एस.सी/बी.काम. की कक्षायें संचालित है। वर्तमान में इस महाविद्यालय में 497 छात्र/छात्राएँ अध्ययनरत् है। महाविद्यालय में सत्र् 2013-14 में 260 छात्र/छात्राएँ अध्यनरत थे, इसी तरह सत्र् 2014-15 में 288 छात्र/छात्राएँ अध्यनरत थे और वर्तमान में इस महाविद्यालय में 497 छात्र/छात्राॅए अध्ययन कर रहे है। महाविद्यालय का उददेश्य छात्र/छात्राओं को उच्च शिक्षा प्रदान करना एवं उनके सर्वागिण विकास करना है।

यह महाविद्यालय आदिवासी क्षेत्र होने के कारण आदिवासी छात्र/छात्राएँ अधिक संख्या में अध्ययनरत् है। इस महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना (एन.एस.एस.) की इकाई संचालित है। यह महाविद्यालय की स्वयं भवन निर्मित है। महाविद्यालय में छात्र/छात्राओं की शैक्षणिक गतिविधियों केयूथ रेडक्रास सोसायटी साथ ही साथ अन्य गतिविधियों का भी संचालन किया जाता है। खेलों के क्षेत्र में छात्र/छात्राएँ राज्य स्तरीय तथा देश स्तरीय तक भी भाग ले रहे है। छात्र/छात्राओं के व्यक्तित्व विकास के लिए विभिन्न प्रतियोगिता, कार्यशाला ,व्याख्यानमाला का आयोजन किया जाता है।