Principal's Desk

मोहला आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है इस महाविद्यालय की स्थापना नगर के गणमान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, एवं प्रशासन के प्रयास से अगस्त 2007 में हुई । महाविद्यालय के प्रारंभ होने से मोहला व आसपास के ग्रामीण इलाके के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने का सुविधायुक्त अवसर प्राप्त हुआ। तीनों संकाय विज्ञान, कला, व वाणिज्य में अध्यापन होने से छात्र/छात्राओं को व पालक गणों को राहत महसुस हुई । विद्यार्थियों की प्रवेश संख्या महाविद्यालय में बढ़ती जा रही है। शासन के सहयोग से विद्यार्थियों के लिए अनके सुविधा महाविद्यालय में उपलब्ध करायी जा रही है विद्यार्थी अध्यापन की नई तकनीक से जुड़े, इन्टरनेट से जुड़े व अपने प्रत्येक कार्य को आसानी से कर सके इस दिशा में महाविद्यालय प्रयासरत् है। अध्यापन के साथ-साथ अन्य गतिविधियों में भागीदार रहे इस हेतु भी पूरा प्रयास महाविद्यालय का है। विद्यार्थी एन.एस.एस. इकाई से जुड़े व राष्ट्रीय सेवा के लिये समर्पित भावना से कार्य करें। शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहे इस हेतु खेल विभाग प्रेरणा देता है। विद्यार्थी ग्रंथालय का उपयोग कर अपने ज्ञान की वृद्धि करें।

छात्र/छात्राएँ ऐसे वातावरण में अध्यापन करे, जो भयमुक्त हो। विद्यार्थी पूरी लगन व मेहनत से शैक्षणिक वातावरण में अध्यापन करें। प्रत्येक विद्यार्थी ऐसा हो जो समाज व देश के लिये महत्वपूर्ण बने, तथा अपना, अपने ग्राम, शहर व समाज तथा देश विकास व कल्याण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायें।

प्रभारी प्राचार्य (डॉ. जी. के. जोशी )